समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार बेगूसराय

Begusarai Firing Incident: आखिर 30 किमी तक किसने बरसाईं लोगों पर गोलियां? टीम गठित, सनकी शूटर्स की तलाश में पटना समेत 6 जिलों में अलर्ट

image source : social media

Begusarai Firing Incident: बिहार के बेगूसराय (Bihar, begusarai) में बाइक सवार दो बदमाशों ने एनएच 28 और एनएच 31 पर आधे दर्जन जगहों पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर एक की हत्या और 10 को घायल करने वाले बदमाशों का अब तक कोई सुराग नहीं मिला है. पुलिस ने बदमाशों को पकड़ने के लिए 3 टीमों का गठन किया है, जो विभिन्न स्थानों पर छापेमारी कर रही हैं. बेगूसराय पुलिस हाईवे पर लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है. एक जगह पर लगे सीसीटीवी कैमरे में दोनों अपराधियों की तस्वीर कैद हो गई है. वे एक बाइक पर सवार थे. पुलिस इस आधार पर दोनों की तलाश में जुटी है. बेगूसराय जिले में चारों ओर नाकाबंदी कर दी गई है. पटना समेत पड़ोसी जिलों में भी अलर्ट जारी हुआ है. जगह-जगह छापेमारी की जा रही है.

सड़क पर घूम-घूमकर गोलियां चलाईं

बेगूसराय जिले के एसपी योगेंद्र कुमार के अनुसार बाइक सवार 2 अज्ञात बदमाशों ने शहर के 4 थाना क्षेत्रों में घूम-घूमकर लोगों पर गोलियां (Begusarai Firing Incident) चलाईं. इस गोलीबारी में 10 लोग घायल हो गए, जिनमें से एक की बाद में मौत हो गई. वारदात के बाद दोनों बदमाश वहां से फरार हो गए. सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया, जिसमें सभी 9 घायलों की हालत खतरे से बाहर है. उनका विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है.

पकड़ने के लिए 3 टीम गठित 

एसपी ने बताया कि इस मामले (Begusarai Firing Incident) का खुलासा करने के लिए 3 टीमों का गठन किया गया है. इसके साथ ही आसपास लगे CCTV कैमरों की फुटेज को भी खंगाला जा रहा है. घटना में मारे गए और घायल हुए लोगों के परिजनों ने NH-28 ब्लॉक किया था, जिन्हें कार्रवाई का आश्वासन देकर वहां से हटाया गया. पीड़ितों का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने बताया कि इस गोलीबारी में एक पिस्टल का इस्तेमाल किया गया है. शहर में स्थिति फिलहाल नियंत्रण में है. बदमाशों को पकड़ने के लिए दबिश चल रही हैं.

पीड़ितों की हुई पहचान

उन्होंने बताया कि इस घटना के पीड़ितों की पहचान कर ली गई है. मृतक की शिनाख्त 30 वर्षीय चंदन नामक युवक के रूप में हुई है. वह सोकहरा का रहने वाला था. वहीं घायलों के नाम विशाल सोलंकी, रंजीत कुमार, प्रशांत कुमार रजक, नीतीश कुमार, अमरजीत कुमार, गौतम कुमार, भरत यादव, नीतीश कुमार, जीतू पासवान हैं. इस घटना के बाद से लोगों में सरकार और पुलिस के प्रति काफी आक्रोश बना हुआ है और वे सरकार से कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.

40 मिनट तक 30 किमी रास्ते में लगातार फायरिंग करते रहे

जानकारी के मुताबिक बाइक सवार बदमाशों ने वारदात की शुरुआत बछवाड़ा थाना क्षेत्र के गोधना से शुरुआत की थी. इसके बाद वे 40 मिनट तक 30 किमी रास्ते में लगातार फायरिंग (Begusarai Firing Incident) करते रहे. उनके सामने जो भी आया, वे उसे गोली मारकर आगे बढ़ते चले गए. चकिया एरिया में उन्होंने गोलीबारी की आखिरी घटना को अंजाम दिया और उसके बाद बाइक समेत फरार हो गए. सूत्रों का कहना है कि फायरिंग के बाद अपराधी पटना की ओर भाग गए.

बीजेपी  नीतीश सरकार के खिलाफ हमलावर 

बेगूसराय गोलीकांड पर बीजेपी ने  नीतीश कुमार के खिलाफ हमला बोला है. बिहार बीजेपी के नेता व राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने महागठबंधन की सरकार पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि बिहार के इतिहास में यह पहली घटना है. मंगलवार शाम बेगूसराय में बाइक सवार 2 अपराधियों ने लगभग एक दर्जन से ज्यादा लोगों को गोली मार दी. एक व्यक्ति की मौत हो गई, 10-11 लोग घायल हैं. दुर्भाग्य है कि जब से बिहार में महागठबंधन की सरकार बनी है, तब से अपराधियों के हौसले बुलंद हैं.

पटना प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट मोड पर

हालांकि बेगूसराय में हुई गोलीबारी की घटना के बाद पटना प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट मोड पर है, पटना के हथिदह थाना द्वारा राजेन्द्रसेतु पर सघन वाहन चेकिंग की जा रही है. थानाध्यक्ष राकेश रंजन के साथ बड़ी संख्या में पुलिस बल के द्वारा वाहनों की तलाशी ली जा रही है. राजेंद्र सेतु ही बेगूसराय से पटना को जोड़ने का एकमात्र रास्ता है. अपराधियो द्वारा निर्दोष व्यक्तियों कों इस तरह रुक रुक कर गोली मारी गई है. घटना की शुरुआत बेगूसराय जिले के बछवाड़ा से हुई थी, और चकिया थाना के थर्मल गेट तक अपराधियों ने निर्दोष लोगों को गोली मारी है. घटना के बाद बेगूसराय के DIG और एस पी खुद पेट्रोलिंग और संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रहें हैँ, गोली लगने वालों की अभी तक कुल संख्या 10 है जिसमें एक की मौत हो चुकी है.

ये भी पढ़ें : LPG टैंकर से ढेढ़ करोड़ की अवैध शराब बरामद, बिहार में फिर बढ़ रही शराब तस्करी की घटनाएं

Related posts

चीन अरुणाचल प्रदेश को मानता है अपनी संपत्ति, बदल दिये हैं 15 स्थानों के नाम, भारत को मंजूर नहीं

Pramod Kumar

Parliament: मॉनसून सत्र में हंगामा करने वाले 12 राज्यसभा सांसद पूरे शीतकालीन सत्र के लिए निलंबित

Pramod Kumar

किसान सरकार को झुका सकते हैं तो साधु-संत क्यों नहीं? अपनी मांग मनवाने के लिए कर दी आन्दोलन की शुरुआत

Pramod Kumar