समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राजनीति

Bandhu Tirkey से पहले झारखंड के इन विधायकों को विधायकी से धोना पड़ा था हाथ 

Bandhu Tirkey

Ranchi : आय से अधिक संपत्ति मामले में सीबीआई कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है. कोर्ट ने इस मामले में मांडर विधायक बंधु तिर्की (Bandhu Tirkey) को दोषी करार दिया है. साथ ही 3 साल की सजा का ऐलान भी किया है. बंधु तिर्की को सजा मिलने के बाद उनकी सदस्यता का जाना तय है. विधायक बंधु तिर्की Prevention of corruption act की धारा 13(2)13(1) 13 (3) के तहत दोषी क़रार दिए गए है. यह मामला वर्ष 2010 में दर्ज किया गया था. इस केस का नंबर आरसी 5(A) 2010 है. CBI के मुताबिक बंधु तिर्की ने अपने विधायक और मंत्री रहने के दौरान वर्ष 2005 से लेकर वर्ष 2009 के बीच 6 लाख 28 हज़ार 698 रुपये की आय से अधिक संपत्ति अर्जित की है.

जब कमल किशोर भगत को विधायकी से धोना पड़ा था हाथ 

अदालत द्वारा सजा सुनाने के बाद किसी की विधायकी का जाने का झारखंड में यह पहला मामला नहीं है. इससे पूर्व अदालत ने पहली बार 2014 में  लोहरदगा से दोबारा विधायक बने कमल किशोर भगत को डॉ केके सिन्हा प्रकरण में दोषी ठहराया था और उन्हें विधायकी से हाथ धोना पड़ा था।

एनोस एक्का की सदस्यता समाप्त कर दी गई थी

हत्या के एक मामले में सिमडेगा न्यायालय द्वारा दोषी करार दिए जाने के बाद कोलेबिरा के झापा विधायक एनोस एक्का की सदस्यता समाप्त कर दी गई थी। चौथी विधानसभा में अपनी विधायकी गंवाने वाले ये चौथे विधायक थे। इससे पूर्व अदालत द्वारा दोषी करार दिए जाने के बाद योगेंद्र महतो और अमित कुमार की सदस्यता विधानसभा अध्यक्ष ने रद्द की थी।

अमित महतो को भी छोड़नी पड़ी थी विधायकी 

सोनाहातू के तत्कालीन अंचलाधिकारी आलोक कुमार के कार्यालय में घुसकर उनके साथ मारपीट करने के मामले में अपर न्यायायुक्त दिवाकर पांडेय की अदालत ने अमित महतो को दोषी ठहराते हुए दो साल की सजा सुनाई थी । इस मामले में उन्हें भी विधायकी छोड़नी पड़ी थी ।

योगेंद्र महतो की सदस्यता  भी  रद्द कर दी गई  थी

रामगढ़ की एक अदालत ने कोयला चोरी के मामले  में  दोषी करार देते हुए झामुमो के गोमिया से विधायक रहे योगेंद्र महतो को तीन साल की सजा सुनायी थी. जिसके बाद विधानसभा में योगेंद्र महतो की विधायकी को रद्द कर दी गई  थी. आपको बता दें कि  कि इन पांच में से चार विधायक चौथे विधानसभा के सदस्य हैं.

ये भी पढ़ें : Jharkhand: एचईसी कारखाने में काम करने जा रहे BMS मजदूरों पर हमला, काम करना रास नहीं आया कम्युनिस्ट संगठन को

Related posts

Bihar: आरपीएफ की टीम को गया रेलवे स्टेशन में मिले 61 कछुए, ट्रेन की बोगी में लावारिस पड़े थे 4 बैग

Pramod Kumar

बिहार: ‘हर घर नल का जल’ स्कीम पर सवाल, डिप्टी CM तारकिशोर प्रसाद की बहू और रिश्तेदारों को मिले 36 ठेके

Manoj Singh

1 अप्रैल से आपकी जेब पर पड़ेगा भार, जानिये कौन-कौन सी चीजें होने वाली हैं महंगी

Pramod Kumar