समाचार प्लस
Breaking फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

Aurangabad : एक शादी ऐसी भी, प्रेमिका ने पहले प्रेमी को भिजवाया जेल फिर कोर्ट में की शादी

Aurangabad

औरंगाबाद से रुपेश कुमार की रिपोर्ट 

औरंगाबाद में अन्तर्जातीय विवाह का एक ऐसा दिलचस्प मामला सामने आया है जिसमें शादी से इंकार करने पर प्रेमिका ने अपने प्रेमी को पहले तो जेल भिजवाया और फिर बाद में कोर्ट के आदेश पर उससे शादी भी कर ली, वह भी कोर्ट परिसर स्थित शिव मंदिर में ही।इसके पूर्व व्यवहार न्यायालय के न्यायाधीश ओम प्रकाश सिंह की अदालत में प्रेमिका ने इस मामले में अपने प्रेमी के खिलाफ मामला दर्ज़ कराया था और शादी से इंकार करने का आरोप लगाते हुए अपने प्रेमी को उसने जेल भिजवा दिया था। बाद में प्रेमिका ने अदालत से जेल में बंद अपने प्रेमी से शादी की गुहार लगाई जिस पर न्यायाधीश ने जेल अधीक्षक को जेल में बंद प्रेमी को न्यायिक हिरासत में कोर्ट परिसर स्थित मंदिर लाने का निर्देश दिया। जहां मंत्रोचार के बीच उन दोनों की शादी करा दी गयी।

 

 

पढ़ाई के दौरान हुआ था प्यार 

दरअसल जिले के बारूण प्रखंड के दुधार गांव की ज्योति और जनकोप गांव के राजकुमार गुप्ता पटना में रहकर पढ़ाई करते थे जहां दोनों के बीच प्रेम हो गया। तक़रीबन 3 साल तक दोनों के बीच प्रेम का पेंच लड़ता रहा। लेकिन बात जब शादी की आई तब लड़के ने शादी से इंकार कर दिया। थक हार कर प्रेमिका ने अदालत की शरण ली जिसके बाद कोर्ट के आदेश पर उसे जेल भेज दिया गया। बाद में दोनों के बीच समझौता हो गया और प्रेमिका ने एक बार फिर कोर्ट से शादी करा देने की गुहार लगाई। कोर्ट ने भी इसकी सहमति दे दी और जेल अधीक्षक को प्रेमी को अदालत परिसर स्थित शिव मंदिर लाने का निर्देश दिया। इसी आलोक में दोनों की शादी करा दी गयी जिसे देखने बड़ी संख्या में लोग वहां मौजूद थे। वहीं प्रेमिका के वकील ने बताया कि प्रेमी को जल्द ही जमानत मिल जाएगी, जिसके बाद दोनों अपना जीवन एक साथ गुज़ार सकेंगे।
ये भी पढ़ें :Last Ride Of Bike: कब्र खोदकर निकाला दोस्त का शव, फिर बाइक पर घुमाया पूरा शहर, हैरान कर देगी वजह

 

 

Related posts

Amazon और Flipkart Sale में सबसे सस्ते स्मार्टफोन, कीमत ₹5299 से शुरू

Manoj Singh

पाकिस्तान की मदद से तालिबान ने पंजशीर में गाड़ा झंडा, सालेह मोहम्मद की मौत!

Pramod Kumar

बदलने वाला है आपके टीवी सीरियल का पता, ZEE-SONY का होने जा रहा मर्जर

Pramod Kumar