समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

आत्मनिर्भर नारीशक्ति से संवाद: महिलाएं अब पैसे डिब्बे में नहीं, बैंक में रखती हैं – पीएम

आत्मनिर्भर नारीशक्ति से संवाद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय आजीविका मिशन (DAY-NRLM) से जुड़े महिला स्वयं-सहायता समूहों की महिला सदस्यों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बातचीत की। ‘आत्मनिर्भर नारीशक्ति से संवाद’ कार्यक्रम में स्वयं-सहायता समूहों से जुड़ी महिलाओं के योगदान की प्रधानमंत्री ने तारीफ की। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में स्वयं सहायता समूहों की बहनों ने जिस प्रकार देशवासियों की सेवाएं की हैं, वह सराहनीय है। इस मौके पर पीएम ने उन्नति, सफलता समेत छोटी जोत वाली खेती से पैदा होने वाली आजीविका पर एक किताब भी जारी की।

42 करोड़ से अधिक जनधन खातों में 55 फीसदी महिलाओं के पास – पीएम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि उनकी सरकार से पहले अधिकांश महिलाएं अपने पैसे को रसोई के डिब्बे में रखती थीं क्योंकि वे बैंकिंग सिस्टम से कोसों दूर थीं। लेकिन आज 42 करोड़ से अधिक जन धन बैंक खाते हैं, जिनमें से 55 फीसदी महिलाओं के पास हैं।

महिलाओं के आगे बढ़ने के अवसर बढ़े – पीएम

पीएम मोदी ने कहा कि आज देश की बहनों-बेटियों के पास पहले की तुलना में ज्यादा अवसर हैं। वे हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं। पहले की तुलना में आज महिलाओं की सामाजिक दशा भी सुधरी है। घर, शौचालय, बिजली, पानी, जैसी सुविधाओं से सभी बहनों को जोड़ा जा रहा है। बहनों-बेटियों के स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण, टीकाकरण और दूसरी जरूरतों पर भी सरकार पूरी संवेदनशीलता से काम कर रही है।

स्वयं सहायता समूहों में तीन गुणा बढ़ोतरी हुई – पीएम

पीएम मोदी ने कहा कि आज देशभर में लगभग 70 लाख स्वयं सहायता समूह हैं, जिनसे लगभग 8 करोड़ बहनें जुड़ी हैं। पिछले 6-7 सालों के दौरान स्वयं सहायता समूहों में तीन गुणा से अधिक की बढ़ोतरी हुई है, तीन गुणा बहनों की भागीदारी सुनिश्चित हुई है।

खिलौनों के प्रोत्साहन से महिलाओं को रोजगार – पीएम

पीएम मोदी ने कहा कि भारत में बने खिलौनों को भी सरकार बहुत प्रोत्साहित कर रही है, इसके लिए हर संभव मदद भी दे रही है। विशेष रूप से हमारे आदिवासी क्षेत्रों की बहनें तो पारंपरिक रूप से इससे जुड़ी हैं।

महिलाओं में उद्यमशीलता का दायरा बढ़ाने का प्रयास – पीएम

पीएम ने कहा कि महिला किसान उत्पादक संघ हो या फिर दूसरे स्वयं सहायता समूह, बहनों के ऐसे लाखों समूहों के लिए 1,600 करोड़ रुपये से अधिक राशि भेजी गई है। महिलाओं में उद्यमशीलता का दायरा बढ़ाने के लिए, आत्मनिर्भर भारत के संकल्प में अधिक भागीदारी के लिए आज बड़ी आर्थिक मदद जारी की गई है।

यह भी पढ़ें : Congresss Twitter Account: Congress के Official Twitter Account हुआ Block, आग बबूला हुए पार्टी के नेता

Related posts

CM नीतीश कुमार पर मामला दर्ज करने पहुंचे IAS अफसर, थानेदार ने 4 घंटे तक थाने में कराया इंतजार, यहां देखें Video

Manoj Singh

12 सितंबर को जारी होगी बिहार बोर्ड इंटर की दूसरी चयन सूची, जानें कब तक एडमिशन ले सकेंगे छात्र

Manoj Singh

देवघर : 15 साइबर अपराधी गिरफ्तार, कैश बैक का लालच दे करते थे ठगी

Manoj Singh

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.