समाचार प्लस
Breaking खेल फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Asia Cup 2022: अब पाकिस्तान दोनों मैच हारे तो कुछ बात बने, भारत के फाइनल में पहुंचने का गणित हुआ टेढ़ा

Asia Cup: Now if Pakistan loses both the matches, then there will be some talk

Asia Cup 2022: एशिया कप T-20 जब शुरू हुआ था तब उम्मीद थी कि भारत और पाकिस्तान तीन बार भिड़ सकते हैं और ऐसा हो सकता है। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। अब हर हाल में दोनों में से कोई एक ही टीम फाइनल में पहुंचेगी। भारत सुपर 4 में लगातार अपने दो मैच गंवा कर एशिया कप के फाइनल में पहुंचने की राह बेहद मुश्किल कर ली है, लेकिन अभी उसके रास्ते पूरी तरह बंद नहीं हुए हैं। भारत अब दूसरी टीमों की जीत-हार पर निर्भर हो गया है। भारत के फाइनल में  पहुंचने की एक ही सूरत है। भारत अपने बचे एक मात्र मैच में अफगानिस्तान को हरा दे और पाकिस्तान अपने दोनों मैच हार जाये। तब नेट रन के आधार पर भारत के फाइनल में पहुंचने की सम्भावना बन सकती है। ऐसी सम्भावना बन सकती है या नहीं यह भी आज ही तय हो जायेगा। आज शाम पाकिस्तान और अफगानिस्तान भिड़ने वाले हैं। इस मैच में अफगानिस्तान की जीत भारत को एशिया कप में ‘ऑक्सीजन’ देने का काम करेगी।

रोहित शर्मा की कप्तानी में एशिया कप के सुपर-4 में लगातार दो हार से टीम इंडिया के विश्व कप T-20 की तैयारियों को बड़ा झटका लगा है। इन दो हार ने भारत की विश्व कप T-20 की तैयारियों की पोल खोल कर रख दी है। भारत पहले पाकिस्तान से पिटने और फिर श्रीलंका के हाथों मिली हार ने यह साबित कर दिया कि टीम इंडिया अभी भी अपने प्लेइंग इलेवन को लेकर आश्वस्त नहीं है। मध्यक्रम की बल्लेबाजी की कमजोरियां साफ नजर आ रही हैं। शुरुआती बल्लेबाजों तो थोड़ा भरोसा किया जा सकता है। मध्यक्रम भरोसे पर खरा नहीं उतर रहा है। फिर, एक भरोसे के साथ टीम में रखे गये विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को प्लेइंग 11 में नहीं रखना भी टीम मैनेजमेंट पर सवाल उठा रहा है।

चाहे पाकिस्तान हो या श्रीलंका दोनों को ही भारत बड़ा लक्ष्य देने में नाकाम रहा है। पाकिस्तान के खिलाफ भारत ने जरूर 181 रन बनाये, लेकिन यह स्कोर और बड़ा हो सकता था जो वह अपने मध्यक्रम बल्लेबाजों की नाकामी के कारण नहीं कर सका। श्रीलंका के खिलाफ भारत की बल्लेबाजी किस कदर फेल हुई इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि कप्तान राहुल ने 41 गेंदों में 72 रन बनाये, लेकिन पूरी टीम 79 गेंदों में 99 रन ही बना सकी। टीम इंडिया के इस स्कोर में 7 वाइड और 1 नो बॉल भी थे। यानी भारत ने शेष बल्लेबाजों ने 87 गेंदों में मात्र 99 रन बनाए।

श्रीलंका ने 174 रनों के लक्ष्य को 19.5 ओवर में हासिल कर भारत को 6 विकेट से हरा दिया। भारत की इस हार में भारतीय गेंदबाजों का प्रदर्शन भी कम जिम्मेदार नहीं है। भारतीय गेंदबाज श्रीलंकाई बल्लबाजों पर शुरू से ही अंकुश लगाने में नाकाम रहे। पथुम निसंका (52) और कुसल मेंडिस (57) की 97 रनों की साझेदारी ने श्रीलंका के लिए एक मजबूत शुरुआत दी। इसके बाद श्रीलंका के 4 विकेट जल्दी-जल्दी निकल गये, लेकिन कप्तान दासुन शनाका ने नाबाद 33 और भानुका राजपक्षे ने नाबाद 25 रन बनाकर टीम को रोमांचक जीत दिला दी। दोनों ने नाबाद अर्धशतकीय साझेदारी की।

इसके पहले टीम इंडिया की बल्लेबाजी सिर्फ रोहित शर्मा की अर्धशतकीय पारी के ही इर्द-गिर्द रह गयी। फॉर्म मे लौटे विराट कोहली इस बार शून्य पर पैवेलियन लौटे। शेष बल्लेबाजों ने भी कोई खास कारनामा नहीं किया और टीम 8 विकेट खोकर 173 रन ही बना सकी। कप्तान रोहित शर्मा के 41 गेंद पर 72 रन बनाये।

यह भी पढ़ें: First Intranasal Vaccine: भारत की पहली नेजल Corona वैक्सीन को मिली मंजूरी, नाक के जरिए लगेगी

Related posts

Navratri: मात्र पावन स्मरण से ही अपने भक्तों का कल्याण करती हैं मां कात्यायनी

Pramod Kumar

सरकार ने Drone इस्तेमाल को लेकर नियमों में दी ढील, अब किसी सुरक्षा मंजूरी की आवश्यकता नहीं

Manoj Singh

‘गणपति बप्पा मोरया, अगले बरस तू जल्दी आ’ के जयकारे के साथ भगवान गणेश को दी गयी विदाई

Pramod Kumar