समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

शाहरूख खान का बेटा तो ‘बड़ा खिलाड़ी’ है! डार्कनेट के जरिये काले कारोबारियों से नाता! शाह-गौरी सब जानते हैं!

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झाऱखंड-बिहार

अगर आप अब तक शाहरूख खान के बेटे आर्यन खान को मामूली ड्रग्स एडिक्ट मान रहे थे, तो चौंकने की बारी आपकी है। आर्यन छोटा-मोटा ड्रग्स एडिक्ट नहीं, बल्कि इस ‘खेल’ का माहिर खिलाड़ी निकला है। ऐसा एनसीबी के लगातार किये जा रहे खुलासे से पता चला है। आर्यन के कारनामे उसके माता-पिता यानी शाहरुख खान और गौरी खान से भी छुपे हुए नहीं हैं। दोनों को पता हैं कि उनका बेटा पिछले चार सालों से ड्रग्स ले रहा है। ड्रग्स लेना तो छोटी बात है, एनसीबी बता रहा है कि आर्यन ने देश और देश के बाहर दुबई, यूके और अन्य जगहों की ट्रिप में भी ड्रग्स का सेवन किया है। मगर पूछताछ में  नया राज यह सामने आया है कि वह खेल का बड़ा खिलाड़ी भी है। आर्यन के बहुत बड़े ड्रग सिंडिकेट का हिस्सा होने का खुलासा एनसीबी कर रहा है। आर्यन के मुंबई के कई बड़े ड्रग पेडलर्स के साथ गहरे सम्बंध हैं। पूरे प्रकरण में सिंडिकेट का सबसे अहम खिलाड़ी अरबाज का नाम सामने आया है। अरबाज का पूरा नाम अरबाज सेठ मर्चेंट है। इसका ‘मन्नत’ में आना-जाना लगा रहता है। अरबाज मर्चेंट शाहरुख खान की बेटी सुहाना के भी काफी करीब बताया जाता है। साथ ही इंडस्ट्री में कई स्टार किड्स को भी इसने फांस रखा है।

आर्यन के वकील सतीश मानशिन्दे भले चीख रहे हैं कि छोटे खान से कुछ भी जब्त नहीं किया गया है, लेकिन वह तो ड्रग ट्रैफिकिंग रैकेट का अहम किरदार निकल आया है। एनसीबी इस समय लगातार छापे मार रही है। इन छापों में नये-नये किरदार सामने आ रहे हैं जो नये-नये राज भी उगल रहे हैं। इन्हीं धर-पकड़ में NCB के हाथ एक बड़ा हाई प्रोफाइल ड्रग पैडलर लगा है। इसी ड्रग पैडलर ने क्रूज पर करीब 25 पैसेंजर को ड्रग सप्लाई की थी। खुद NCB के DG ने माना है कि इस काले कारोबार के लिए पैंडलर्स डार्कनेट का इस्तेमाल करते हैं।

आर्यन खान को भी डार्कनेट की दुनिया का शातिर बताया जा रहा है। डार्कनेट यानी एक ऐसा तरीका जिससे अपराधी की लोकेशन ट्रेस करना लगभग नामुमकिन हो जाता है। जब एजेंसी डार्कनेट को खंगालना शुरू करती है तो किसी दूसरे देश की लोकेशन आती है। एजेंसियों को सही लोकेशन का लगभग पता नहीं चल पाता है।

यह भी पढ़ें: NEET SS 2021: नीट सुपर स्पेशियलिटी परीक्षा देने वालों को बड़ी राहत, अगले साल से होगा पैटर्न में बदलाव

Related posts

India vs Pakistan: ‘अबकी बार, भारत की हार’, ‘मुंगेरी लाल का हसीन सपना’ पाकिस्तान फिर देखा एक बार

Pramod Kumar

मौलाना ने कहा खून और आंख से बनी ताबीज पहनो, शख्स ने चढ़ा दी दोस्त की बेटी की बलि

Manoj Singh

Bihar: जब घर वाले ही बने जायें हत्यारे, तब कैसे सुरक्षित रहें मासूम और महिलाएं

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.