समाचार प्लस
Breaking खेल टोक्यो ओलंपिक(Tokyo Olympic)

Tokyo Olympic : निशाने पर नहीं लगा तीर, Deepika हुई Olympic से बाहर

Deepika out of olympic

Tokyo Olympic : स्टार तीरंदाज से Deepika से टोक्यो ओलंपिक में भी पदक जीतने की उम्मीदें समाप्त हो चुकी हैं। महिलाओं के व्यक्तिगत मुकाबले में कोरियाई तीरंदाज अन सान का बेहतरीन प्रदर्शन क्वार्टर फाइनल में भी जारी रहा। उन्होंने यह मुकाबला तीन सेट में खत्म कर 6-0 से जीत हासिल कर ली। Deepika शुक्रवार को ही खेले गये प्री क्वार्टर फाइनल मुकाबले का प्रदर्शन इस मैच में जारी नहीं रख सकीं। अन्यथा नतीजा कुछ और हो सकता था। इस तरह उन्होंने स्पर्द्धा से बाहर का रास्ता देखना पड़ा। दीपिका का यह लगातार तीसरा ओलंपिक है जब उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ रहा है। तीरंदाजी में अब एक मात्र भारतीय उम्मीद के रूप में उनके पति अतनु दास से बचे हैं।

इससे पहले दीपिका ने प्री-क्वार्टर फाइनल में पूर्व विश्व चैम्पियन रूसी ओलंपिक समिति की सेनिया पेरोवा को रोमांचक शूट ऑफ में मात दी थी.

क्वार्टर फाइल मुकाबले में अन सान ने तीन परफेक्ट 10 जमते हुए पहला सेट 30-27 से जीता। दीपिका पहले शॉट में 7 अंक के कारण काफी पीछे हो गई थीं। दूसरे सेट में दीपिका ने दो बार 7-7 अंक लेकर फिर पिछड़ गयी। दूसरे सेट का यह मुकाबला हालांकि नजदीकी था। फिर भी अन सान ने यह सेट 26-24 से जीता। इस सेट में दोनों खिलाड़ियों के एक-एक परफेक्ट 10 थे। इस मुकाबले में अन सान का प्रदर्शन तीसरे सेट में सबसे खराब रहा, लेकिन दीपिका इसका फायदा नहीं उठा सकीं। और 26-24 के अंतर से यह सेट और मैच हार गयीं। मुकाबले का फाइनल स्कोर अन सान के पक्ष में 30-27 (2-0), 26-24 (4-0), 26-24 (6-0) रहा।

इससे पहले प्रीक्वार्टरफाइनल में दीपिका कुमारी ने आरओसी की सेनिया पेरोवा को कड़े मुकाबले में पराजित कर क्वार्टर फाइनल में जगह बनायी थी। पांच सेट तक चले मुकाबले में दीपिका ने पेरोवा को  28-25, 26-27, 28-27, 26-26, 25-28 के अंकों के साथ 6-5 से हराया था।

भारत को अब भी पहले मेडल का इंतजार, उम्मीदें अतनु पर

ओलंपिक के इतिहास में तीरंदाजी में भारत को अब तक मेडल नहीं मिला है। दीपिका इससे पहले 2012 लंदन ओलंपिक और 2016 रियो ओलंपिक में हिस्सा ले चुकी हैं, लेकिन इससे पहले के दोनों ओलंपिक से भी उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा था।

इसे भी पढ़ें : Tokyo Olympics : भारत का एक और पदक पक्का, मुक्केबाज Lovlina इतिहास रचने के करीब

 

 

Related posts

Tokyo Olympics : सेमीफाइनल में नहीं चला बजरंग का दांव, अजरबैजान के पहलवान से हारे, अब ब्रॉन्ज के लिए लड़ेंगे

Sumeet Roy

Vicky Kaushal-Katrina Kaif की शादी में मोबाइल रहेगा BAN! जल्द जारी होगी गेस्ट लिस्ट

Sumeet Roy

7वीं JPSC मेंस परीक्षा स्थगित करने का फैसला, झारखंड हाईकोर्ट ने दिया आदेश

Sumeet Roy