समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

तालिबान के संपर्क में अमेरिका, 31 अगस्त तक ही सैनिकों को निकालने पर फोकस

तालिबान के संपर्क में अमेरिका, 31 अगस्त तक ही सैनिकों को निकालने पर फोकस

बाइडन प्रशासन का फोकस 31 अगस्त तक अफगानिस्तान से निकासी मिशन को पूरा करने पर है। दरअसल राष्ट्रपति जो बाइडन ने इसी साल अप्रैल में अमेरिकी सैनिकों की वापसी को लेकर डेडलाइन निर्धारित कर दी थी  वो  पहले सितंबर की थी, लेकिन बाद में  बढ़ाकर अगस्त कर दी गई। अब अफगानिस्तान में काबिज होने वाला तालिबान भी इसी तिथि पर जोर दे रहा है।

अमेरिका लगातार लोगों को निकाल रहा है

अफगानिस्तान  में तालिबानी राज स्थापित होने के बाद अमेरिका और नाटो देशों की कोशिश बड़ी संख्या में लोगों को रेस्क्यू करने की है. अमेरिका लगातार लोगों को निकाल रहा है, इस बीच वह तालिबान के साथ भी संपर्क में बना हुआ है. अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुवेलियन ने इस बात की पुष्टि की है कि अमेरिका लगातार तालिबान के साथ बातचीत कर रहा है.

जेक सुवेलियन ने कहा है कि हम तालिबान से रोजाना बात कर रहे हैं, जो अलग-अलग मसलों पर है. हम लगातार अपने साथी देशों के साथ भी संपर्क में बने हुए हैं, लेकिन ये चर्चाएं क्या हैं, ये बताना अभी ज़रूरी नहीं है. हालांकि, उन्होंने ये भी साफ किया कि राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अभी किसी भी तालिबानी नेता से बात नहीं की है.

31 अगस्त तक लोगों को निकालने की कोशिश

बाइडेन प्रशासन ने एक बार फिर साफ कर दिया है कि अमेरिका 31 अगस्त तक ही अपने सभी सैनिकों को निकाल लेगा. एनएसए जेक सुवेलियन ने साफ किया है कि काबुल एयरपोर्ट से 31 अगस्त तक सभी सैनिकों को वापस बुला लिया जाएगा, लेकिन अगर उन्हें लंबे समय तक रोका जाता है तो उसपर फैसला राष्ट्रपति बाइडेन ही लेंगे.

अमेरिका के कुल 5800 जवान काबुल एयरपोर्ट पर तैनात हैं

अभी अमेरिका के कुल 5800 जवान काबुल एयरपोर्ट पर तैनात हैं, जिन्होंने एयरपोर्ट अपने कंट्रोल में लिया हुआ है और वो अमेरिकी नागरिकों के साथ-साथ मित्र देशों के नागरिकों, अफगानी नागरिकों को बाहर निकालने में मदद कर रहे हैं.

अमेरिकी रक्षा विभाग के मुताबिक, 24 घंटे में करीब 16 हज़ार लोगों को काबुल एयरपोर्ट से बाहर निकाला गया. लगातार लोगों की संख्या बढ़ रही है, सिर्फ अमेरिका ही नहीं बल्कि अन्य देशों की सेनाएं भी लोगों को वहां से निकाल रही हैं.

तालिबान ने दी थी धमकी 

अमेरिका की ओर से एक बार फिर 31 अगस्त की बात तब कही गई है, जब बीते दिन ही तालिबान ने धमकी दी थी. तालिबान ने साफ किया था कि 31 अगस्त तक अमेरिकी सैनिकों को यहां से जाना ही होगा, अगर डेडलाइन पार होती है तो इसका अंजाम ठीक नहीं होगा.

ये भी पढ़ें : बदलाव : सेना की 5 महिला अधिकारियों को मिला कर्नल रैंक में प्रमोशन

Related posts

Tokyo Olympics : सेमीफाइनल में नहीं चला बजरंग का दांव, अजरबैजान के पहलवान से हारे, अब ब्रॉन्ज के लिए लड़ेंगे

Sumeet Roy

Himachal Pradesh में प्रकृति का कहर : बादल फटने से आयी बाढ़, पानी के बहाव से बह गयी कारें

Sumeet Roy

रांची लौटने पर सलीमा और निक्की का भव्य स्वागत, मुख्यमंत्री हेमंत ने की इनामों की वर्षा

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.