समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

झारखंड के तीनों विधायक कलकत्ता HC से बरी, रांची लौटकर कल विधानसभा सत्र में लेंगे भाग

All three MLAs of Jharkhand acquitted from Calcutta HC, will participate in the assembly session tomorrow

विधायकों का सरकार गिराने जैसे साजिश में हाथ नहीं: HC

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

कलकत्ता हाई कोर्ट में लंबी सुनवाई के बाद गुरुवार को आखिरकार मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कोलकातो में गिरफ्तार किये गये तीनों विधायकों को रेगुलर बैल पर रिहा कर दिया। इन तीनों विधायकों को कुछ शर्तों पर 3 माह पूर्व अंतरिम जमानत दी गयी थी। आज कोर्ट में दोनों ही पक्षों को सुनकर जज ने यह माना कि इन तीनों विधायकों का सरकार गिराने जैसी किसी भी साजिश में हाथ नहीं है। इसलिए इन तीनों विधायकों को कोलकाता में रोक कर रखने का कोई भी औचित्य नहीं है। यह तीनों माननीय है एवं उनके नहीं रहने से उनके क्षेत्र में लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। तीनों विधायक इरफान अंसारी, नमन विक्सल कोंगाड़ी और राजेश कश्यप रांची लौट रहे हैं। शुक्रवार को विधानसभा के विशेष सत्र में तीनों विधायकों के शामिल होने की भी सम्भावना है।

आखिरकार सच सामने आ गया – इरफान अंसारी

तीनों विधायकों में एक इरफान अंसारी ने उच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि मुझे पहले से ही न्यायालय पर पूरा भरोसा था। क्योंकि हम लोगों ने जब गलत किया ही नहीं तो फिर हमें परेशान होने की जरूरत नहीं है। सच आने में थोड़ा समय लगा परंतु आज सच सामने आ गया। मैं एक बार फिर से उच्च न्यायालय एवं पूरे झारखंड वासियों को धन्यवाद देता हूं।

हाई कोर्ट के फैसले का स्वागत

विधायक राजेश कश्यप एवं विधायक नमन विक्सल कोंगाड़ी ने भी उच्च न्यायालय का फैसला का स्वागत करते हुए कहा कि आज दूध का दूध और पानी का पानी हो गया। आज साजिशकर्ता का झूठ सामने आ गया। कोर्ट ने भी अपने फैसले में यह साफ कर दिया कि हम तीनों विधायकों का सरकार गिराने जैसे किसी भी साजिश में हाथ नहीं है। जो पैसा जब्त किया गया है वह हमारा पैसा है और उसका हिसाब हम लोग इनकम टैक्स में देंगे। यह कोलकाता पुलिस के अधीन का मामला नहीं है।

यह भी पढ़ें: Jharkhand: कैबिनेट से 34 प्रस्तावों को मिली मंजूरी, हेमंत सरकार छात्रों-युवाओं पर मेहरबान

Related posts

Jharkhand School Row: जामताड़ा के बाद अब दुमका में 33 स्कूलों में जुमे के दिन छुट्टी, आखिर क्यों दिया जा रहा स्कूलों को मजहबी रंग?

Manoj Singh

भारत को होना चाहिए सुरक्षा परिषद का स्‍थाई सदस्‍य, पहली मुलाकात में पीएम मोदी से बोले बाइडेन

Pramod Kumar

भाजपा का झारखंड सरकार पर बड़ा प्रहार, हेमन्त राज में बांग्लादेशी घुसपैठिये बढ़े

Pramod Kumar