समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी पहुंचे रांची, स्वागत में लगे पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे

image source : social media

रांची: मांडर उपचुनाव में खड़े बीजेपी के बागी नेता देवकुमार धान के समर्थन में AIMIM राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी मांडर के चान्हो में चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे। रांची एयरपोर्ट पर AIMIM प्रमुख के स्वागत के लिए भारी संख्या में AIMIM के कार्यकर्ता मौजूद थे. असदुद्दीन ओवैसी के रांची पहुंचने पर कार्यकर्ताओं ने जिंदाबाद के नारों से उनका स्वागत किया.

विवादों में घिरने की आशंका

माना जा रहा है कि औवेसी के किसी समर्थक ने ही ये नारे लगाए थे. बहरहाल ये नारा किसने लगाया और उसका मकसद क्या था ये तो अभी सवालों के घेरे में हैं. रांची में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे के बाद औवसी के इस चुनावी दौरे के विवादों में घिरने की आशंका है.

रांची हिंसा के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया

एयरपोर्ट पहुंचने के बाद उन्होंने रांची हिंसा पर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने इस घटना के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है. साथ ही साथ उन्होंने सरकार की सुरक्षा व्यवस्था पर भी सवाल खड़ा किया है और इसे झामुमो की लापरवाही करार दिया है.

‘मोदी सरकार देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रही है’

अग्निपथ योजना पर चल रहे हिंसक प्रदर्शन पर उन्होंने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि 4 साल में कोई क्या सिखेगा. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रही है. नोट बंदी की वजह से 50 लाख लोगों की नौकरी चली गई.

ओवैसी की एंट्री से किसे होगा फायदा?

निर्दलीय उम्मीदवार देव कुमार धान के समर्थन में असदुद्दीन ओवैसी रांची में चुनाव प्रचार करेंगे. मांडर में चुनावी सभा का आयोजन किया जाएगा. देवकुमार धान ने दावा किया है कि असद्दुदीन ओवैसी के मांडर आने से उनकी जीत सुनिश्चित है .बता दें कि एआइएमआइएम की टिकट पर मांडर से मैदान में उतरे शिशिर लकड़ा नामांकन के बाद अपनी दावेदारी छोड़ कर उनके पक्ष में प्रचार कर रहे हैं. जानकार कहते हैं कि इस उपचुनाव में अगर ओवैसी मुस्लिम वोट को अपनी ओर लाने में कामयाब होते हैं, तो सीधा फायदा भाजपा प्रत्याशी गंगोत्री कुजूर को होगा.

ये भी पढ़ें : Agnipath Scheme: सेना की दो टूक, अग्निपथ स्कीम किसी हालत में नहीं होगी वापस, तोड़फोड़ या आगजनी करने पर FIR हुई तो नहीं मिलेगा मौका

Related posts

Dipika Pandey Jharkhand: बीच सड़क बैठ कीचड़ स्नान करने लगीं विधायक Dipika Pandey, जानें आखिर क्यों उन्हें ऐसा करना पड़ा?

Manoj Singh

CM नीतीश कुमार ने की पिछड़ा एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग की समीक्षा, अधिकारियों को दिए निर्देश

Sumeet Roy

जमीन के बदले भर्ती घोटाले में एक्शन में आई सीबीआई, लालू यादव के 17 ठिकानों पर छापेमारी, राबड़ी-मीसा भारती का घर भी खंगाला

Pramod Kumar