समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

Adiwasi Moolwasi Baithak: स्थानीय नीति के बगैर नियुक्ति नियमावली का कोई औचित्य नहीं- संयुक्त मोर्चा

Adiwasi Moolwasi Baithak

Adiwasi Moolwasi Baithak : शुक्रवार को बरियातू तेतर टोली सरना परिसर में आदिवासी मूलवासी संयुक्त मोर्चा विस्तारित कोर कमेटी की बैठक डा करमा उरांव की अध्यक्षता में हुई। जिसमें कई निर्णय एवं प्रस्ताव पारित किए गए। 12 मार्च को रांची में आदिवासी मूलवासी सामाजिक संगठनों का संयुक्त मोर्चा के तत्वावधान में विशाल आक्रोश महारैली का आयोजन होगा जिसमें 54 सामाजिक संगठनों के माध्यम से झारखंड के कई राज्यों से लोग आएंगे। बैठक में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से अनुरोध किया गया कि 1932 का खतियान या अंतिम जमीन सर्वे को मूल आधार मानकर स्थानीय एवं नियोजन नीति परिभाषित की जाए तथा झारखंड मूल निवासियों को उनका हक और अधिकार दिलाएं।

10 फरवरी को प्रेस क्लब में होगी

बैठक में कहा गया है कि स्थानीय नीति के बगैर नियुक्ति नियमावली का कोई औचित्य नहीं है। नियुक्ति नियमावली में मैथिली,भोजपुरी और अंगिका भाषा को जोड़कर सरकार ने अनावश्यक विवाद छेड़ दिया है। अतः इन भाषाओं को जो झारखंड मूल की नहीं है, उन्हें नियुक्ति नियमावली से हटा दिया जाए। कोर कमेटी की विस्तारित बैठक आगामी 10 फरवरी को प्रेस क्लब में होगी।


इनकी रही उपस्थिति

मौके पर डा करमा उरांव ,अंतु तिर्की, आजम अहमद, प्रेमशाही मुंडा, फूलचंद तिर्की, शिवा कच्छप, संजय तिर्की, धर्म दयाल साहू , बलकू उरांव ,राजू महतो,रमजान कुरैशी,ईश्वर राम,राजा राम साहू, किस्तो कुजूर ,शिव शंकर महतो,भुनेश्वर लोहरा,इजराइल खालिद,बिरसा पाहन, मो महताब, बहुरा उरांव, माधो कच्छप, सुरेन कु कालिंदी, देव सहाय मुंडा, कृष्णा मुंडा,अशोक नायक, राजेश कुमार हरीश मुंडा, रामधन राम मो यामीन सहित अन्य लोग उपस्थित थे।
ये भी पढ़ें :सीएम हेमन्त के सामने ‘पोस्ट कार्ड्स फ्रॉम झारखंड’ डॉक्यूमेंट्री का नेशनल ज्योग्राफिक ने दिया प्रजेंटेशन

 

Related posts

National Monetization Pipeline: लोकसभा में सरकार ने बताया NTPC समेत और क्या-क्या बेचेगी

Pramod Kumar

सीएम हेमन्त सोरेन ने पलामू प्रमंडल में बांटी 8 अरब 58 करोड़ 90 लाख 7 हजार 666 रुपयों की परिसंपत्तियां

Pramod Kumar

सियासी उथल पुथल: इस राज्य के सभी 24 मंत्रियों ने एक साथ सौंपा इस्तीफा

Manoj Singh