समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

एक्टर Siddhaanth Vir की हार्ट अटैक ने ली जान, सावधान! जिम में वर्कआउट बढ़ा रहा है खतरा

image source : social media

बीते कुछ सालों में जिम में वर्कआउट के दौरान हार्ट अटैक (Heart Attack) आने के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं. वर्कआउट (work out) के दौरान अक्सर हार्ट अटैक (Heart Attack)  के कई मामले सामने आए हैं, जिसमें कुछ लोग तो अपनी जान गंवा चुके हैं. टीवी इंडस्ट्री के जाने माने एक्टर सिद्धांत वीर सूर्यवंशी (Siddhaanth Vir Surryavanshi) का 46 साल की उम्र में निधन हो गया. एक्टर जिम करते वक्त (Siddhaanth Vir) कथित तौर पर गिर गए थे.शुक्रवार को मुंबई के जिम में वर्कआउट के दौरान हार्टअटैक आया था। सिद्धांत वर्कआउट करते हुए बेहोश हो गए थे।

40 से अधिक उम्र के बाद हार्ट की बीमारी का बढ़ जाता है खतरा 

एक्सपर्ट का मानना है कि 40 से अधिक उम्र के हर व्यक्ति को दिल की बीमारी होने की संभावना होती है, खासकर तब जब मरीज़ को डायबिटीज और ब्लड प्रेशर की बीमारी हो. ऐसे हर व्यक्ति को स्वयं को तब तक दिल का मरीज ही मानना चाहिए, जब तक कि जांच न हो जाए .

बॉडी को डिहाइड्रेट न होने दें

यदि आप भी 40 की उम्र में वर्कआउट करते हैं, तो विशेषज्ञों की सलाह है कि बॉडी को डिहाइड्रेट न होने दें. एक्सरसाइज करने के दौरान बॉडी ज्यादा डिहाइड्रेट होती है. इसके लिए वर्कआउट से पहले, एक्सरसाइज के दौरान और बाद में भी एक-एक सिप पानी पीते रहें.

image source : social media
image source : social media

झटके से एक्सरसाइज करना सही नहीं

फिटनेस एक्सपर्ट की मानें, तो इस दौरान जरूरत से ज्यादा तेज गति से एक्सरसाइज या झटके से एक्सरसाइज करना सही नहीं होता है. इसलिए जहां जितनी आवश्यकता हो उतनी ही एनर्जी लगानी चाहिए.

आयु और शरीर की क्षमता का भी ध्यान  रखना जरूरी 

युवाओं को हृदय रोग विशेषज्ञ की सलाह के बाद ही जिम करना चाहिए. युवाओं को कोरोनरी आर्टरी डिजीज हो सकती है. इसलिए अपनी आयु और शरीर की क्षमता के मुताबिक व्यायाम करना चाहिए.

इंस्ट्रक्टर व चिकित्सक की सलाह है जरूरी 

शरीर की क्षमता से ज्यादा व्यायाम करने से दिल की बीमारी का जोखिम बढ़ सकता है. इसलिए अपनी क्षमताओं को पहचानकर और इंस्ट्रक्टर व चिकित्सक की सलाह के आधार पर ही अपने लिए सही एक्सरसाइज का चुनाव करन चाहिए.

कम नींद और स्ट्रेस भी है वजह 

आजकल लोग नींद कम और स्ट्रेस ज़्यादा लेते हैं, जो हार्ट अटैक के खतरे को बढ़ाता है. मानसिक तनाव भी कार्डियक अरेस्ट का कारण हो सकता है. आज की भागदौड़ वाली जिंदगी में लोग वर्कलोड से चिंतित रहते हैं.

ये भी पढ़ें : ज्ञानवापी के शिवलिंग का संरक्षण रहेगा बरकरार, सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया फैसला

 

Related posts

Hanuman Jayanti: गुजरात के मोरबी में भगवान हनुमान की 108 फीट की प्रतिमा का अनावरण करेंगे पीएम मोदी

Sumeet Roy

नक्सलियों का उत्पात, गिरिडीह में करोड़ों की लागत से बने पुल पर किया विस्फोट  

Sumeet Roy

Bachchhan Paandey Trailer: अलग अवतार में दिखें अक्षय कुमार, Kriti Sanon ने भी ढाया कहर, फैंस कर रहे थे लंबे वक्त से इंतजार

Sumeet Roy