समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर मनोरंजन

अभिनेता Ramesh Dev का 93 साल की उम्र में निधन, ‘आनंद’ समेत 450 फिल्मों में मनवाया था अभिनय का लोहा

Ramesh Dev

मराठी और हिंदी फिल्मों में जबरदस्त भूमिकाएं निभाकर पहचाने वाले अभिनेता रमेश देव (Ramesh Dev) का बुधवार शाम मुंबई के कोकिलाबेन अंबानी अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। अभिनेता ने हाल में 30 जनवरी को पत्नी सीमा देव और अपने बेटों अजिंक्य देव और अभिनय देव के साथ अपना 93 वां जन्मदिन मनाया था।

उनके बेटे अजिंक्य ने कहा  पिता की तबीयत पिछले कुछ दिनों से ठीक नहीं चल रही थी। बुधवार की सुबह उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। इसलिए हमने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया था, जिसके बाद शाम को दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया’। बता दें, अभिनेता का अंतिम संस्कार गुरुवार यानी आज दोपहर पवन हंस टर्मिनल के पास विले पार्ले श्मशान घाट में किया जाएगा।

टेलीविजन शो और विज्ञापनों में काम किया

रमेश देव ने अपने करियर के दौरान कई बहुआयामी के साथ-साथ टेलीविजन शो और विज्ञापनों में काम किया है। उन्होंने पुरे करियर में 450 से ज्यादा हिंदी और मराठी फीचर फिल्मों में अभिनय किया है। वहीं मुख्य अभिनेता के रूप में उनकी तीन हिंदी फिल्मों के बॉक्स ऑफिस पर काम न करने के बाद उन्होंने एक अच्छे सहायक अभिनेता के रूप में लोकप्रियता हासिल की।

‘आनंद’, में डॉ प्रकाश कुलकर्णी की भूमिका निभाई थी

साथ ही अभिनेता कई फिल्मों में अपनी पत्नी सीमा देव के साथ भी नजर आए हैं। उनमें से प्रमुख हृषिकेश मुखर्जी की फिल्म ‘आनंद’, जिसमें उन्होंने डॉ प्रकाश कुलकर्णी की भूमिका निभाई थी। बता दें, उनके बड़े बेटे अजिंक्य एक प्रसिद्ध अभिनेता हैं, उन्होंने ‘आन: मेन एट वर्क’, ‘शो 24’ की रीमेक और ‘तन्हाजी’ जैसी फिल्मों में काम किया है।

बतौर जूनियर कलाकार अपने को किया स्थापित 

रमेश देव कोल्हापुर में पले-बढ़े है और उन्होंने पहली बार कैमरे का सामना मराठी फिल्म ‘पातालाची पोर’ में एक छोटी सी भूमिका निभाकर किया था। उसके बाद उन्होंने खुद को एक जूनियर कलाकार के रूप में स्थापित किया और उन्हें उस समय एक दिन के काम के लिए 25 रुपये का मिला करते थे।बाद में उन्हें मराठी फिल्म ‘अंधाला मगतो एक डोला’ में विलन का किरदार मिला। उसी साल वो ‘पायदली पडलेली फूल’ में सेकण्ड लीड के रूप में दिखाई दिए। एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था ‘फिल्म की प्रचार सामग्री में अक्सर टीजर होता, रमेश देव फिल्म में नायक हैं या खलनायक ये आप ही पता लगाए’।

‘आरती’ से हिंदी फिल्म जगत में शुरुआत की

रमेश देव ने राजश्री प्रोडक्शंस की फिल्म ‘आरती’ से हिंदी फिल्म जगत में शुरुआत की थी। इसके बाद उन्हें ‘जीवन मृत्यु’, ‘खिलोना’, ‘मेरे अपने’, ‘मिस्टर इंडिया’, ‘घराना’ और ‘घायल’ जैसी कई सुपरहिट फिल्मों में देखा गया। हाल ही में वो ‘जॉली एलएलबी’ में दयालु कौल साहब के रूप में नजर आए थे।

अभिनेता रमेश देव इसके बाद निर्माता के तौर पर नजर आए। उन्होंने लगभग आठ मराठी फिल्मों का निर्देशन भी किया है, जिनमें ‘चोर चोर’, ‘जीवा सखा’, ‘सेनानी साने गुरुजी’ और ‘चल गम्मत करू’ शामिल हैं।
ये भी पढ़ें : Neeraj Chopra लॉरियस अवॉर्ड के लिए नामित, टॉप एथलीट्ससे होगा मुकाबला

Related posts

Rahul Gandhi ने खेला हिंदू कार्ड, बोले- हिंदुओं का राज वापस लाना है, मैं भी हिंदू

Manoj Singh

Film City Noida: योगी आदित्यनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट के लिए वैश्विक निविदा कल से

Pramod Kumar

Blast on INS Ranvir: नौसेना के डॉकयार्ड पर आईएनएस रणवीर में विस्फोट, तीन सैनिकों की गई जान

Sumeet Roy