समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

झारखंड में शिक्षकों के 90 हजार पद रिक्त, सरकार में नियुक्ति की इच्छा शक्ति नहीं: Annapurna Devi

image source : social media

केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री अन्नपूर्णा देवी (Annapurna Devi) ने कहा है झारखंड (jharkhand)में शिक्षकों की काफी कमी (Lack Of teacher) है, पर राज्य सरकार को इन खाली पदों पर नियुक्ति करने में कोई रुचि नहीं है. शिक्षकों कमी से स्कूलों में बच्चों की पढ़ाई बाधित हो रही है. केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री (Annapurna Devi)ने गुरुवार को राज्य के स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की. शिक्षा मंत्री ने मुख्य रूप से केंद्र प्रायोजित योजनाओं की समीक्षा की. बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा कि झारखंड में शिक्षा के विकास में सबसे बड़ी बाधक शिक्षकों की कमी है.

‘झारखंड सरकार यदि पहल करती, तो…’

केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना है, जिसके तहत देश भर के 14500 से ज्यादा विद्यालयों को आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित कर आदर्श विद्यालय के रूप में विकसित करना है. झारखंड सरकार यदि पहल करती, तो राज्य के प्रत्येक प्रखंड में ऐसे दो-तीन स्कूल विकसित हो जाते, लेकिन झारखंड ने अब तक इसके लिए केंद्र सरकार के साथ एमओयू भी नहीं किया है.

’74 हजार पद तो केवल प्राथमिक स्कूलों में ही रिक्त है’

राज्य में शिक्षकों के कुल 90 हजार पद रिक्त है. उन्होंने कहा कि इनमें से 74 हजार पद तो केवल प्राथमिक स्कूलों में ही रिक्त है. उन्होंने बताया कि अधिकारियों के द्वारा जानकारी दी गयी है कि नियुक्ति प्रक्रिया शुरू की गयी है. प्राथमिक विद्यालय में 50 हजार पद सृजित किया गया है, प्लस टू स्कूलों में तीन हजार शिक्षकों की नियुक्ति के लिए आवेदन जमा लिया जा रहा है.

कस्तूरबा विद्यालयों की व्यवस्था पर भी जताया असंतोष

शिक्षा मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार में इच्छाशक्ति की कमी है. राज्य सरकार केवल पूर्ववर्ती सरकार द्वारा किये गये कार्यों पर रोक लगा रही है. उन्होंने कहा कि सरकार ने बिना नयी स्थानीय नीति बनाये पहले की सरकार की नीति को वापस ले लिया. इससे राज्य में नियुक्ति प्रभावित होगी.केंद्रीय मंत्री ने कस्तूरबा विद्यालयों की व्यवस्था पर असंतोष जताया। कहा, इन विद्यालयों में शिक्षक और कर्मचारी सभी महिला ही हों, ये सुनिश्चित करें.

 

Related posts

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ Satya Nadella के बेटे का निधन, Cerebral Palsy से थे पीड़ित 

Manoj Singh

Bihar: भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा एक और पुल! ‘नारियल फोड़ने’ से पहले हुआ धराशायी

Pramod Kumar

अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा में तैनात झारखंड का लाल शहीद, आज मंझारी गांव पहुंचेगा शव

Manoj Singh