समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

बंद होने जा रही है Central Bank of India की 600 शाखाएं, संपत्ति की भी होगी बिक्री

Central Bank of India

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank of India) बैंक अपनी 13 फीसदी शाखाएं यानी करीब 600 ब्रांच को बंद करने जा रहा है। बैंक का कहना है कि अपनी वित्तीय हालत को दुरुस्त करने के लिए उसे ऐसा करना पड़ रहा है। सूत्रों का कहना है कि पिछले कई साल से बैंक की माली हालत ठीक नहीं है और उसे पटरी पर लाने के लिए शाखाओं को बंद करने पर विचार किया जा रहा है। बैंक को जून 2017 में आरबीआई (RBI) ने पीसीए फ्रेमवर्क (PCA Framework) में रखा गया था।

शाखाओं को बंद या मर्ज करने की है योजना

रॉयटर्स की एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। इसके मुताबिक बैंक की मार्च 2023 के अंत तक नुकसान में चल रही 600 शाखाओं को बंद करने या मर्ज करने की योजना है। एक सरकारी सूत्र ने कहा कि बैंक की स्थिति सुधारने के लिए इसके अलावा कोई चारा नहीं रह गया है। बैंक की शाखाओं को बंद करने के बाद रियल एस्टेट जैसे नॉन-कोर एसेट्स की बिक्री की जाएगी। 100 से भी पुराने इस बैंक की देशभर में 4,594 शाखाएं हैं।

क्यों बंद करनी पड़ रही हैं ब्रांच

सेंट्रल बैंक समेत कई दूसरे बैंकों को 2017 में आरबीआई की पीसीए (prompt corrective action) व्यवस्था में रखा गया था। इन बैंकों की वित्तीय स्थिति आरबीआई के शर्तों के दायरे से बाहर निकल गई थी। इन्हें दुरुस्त करने के लिए इन बैंकों पर कई तरह की बंदिशें लगाई गई थीं। सेंट्रल बैंक को छोड़कर बाकी सभी बैंकों के कामकाज में सुधार आया है और वे पीसीए की लिस्ट से निकल गए हैं।
ये भी पढ़ें :परिसीमन आयोग ने जारी की फाइनल रिपोर्ट, राज्य में होंगी इतनी सीटें; नवंबर-दिसंबर में हो सकते हैं विधानसभा चुनाव

 

Related posts

मुख्यमंत्री Nitish Kumar की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक, कुल 4 एजेंडों पर लगी मुहर

Sumeet Roy

Pradeep की उड़ान और जज्‍बे को सलाम, पूरे देश में हो रही है तारीफ

Manoj Singh

Covid-19: गिरावट के बाद कोरोना मामले फिर 40 हजार के पार, 460 लोगों की मौत

Pramod Kumar