समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड

सरकार अनुभव को प्राथमिकता न देकर दक्षता की परीक्षा लेना चाह रही है: पारा शिक्षक

 पारा शिक्षक

 पारा शिक्षक: झारखंड राज्य प्रशिक्षित पारा शिक्षक संघ राज्य इकाई की बैठक में पारा शिक्षकों के दक्षता की परीक्षा लेने का निर्णय लिया गया है .इस निर्णय से झारखंड के पारा शिक्षकों में असंतोष दिख रहा है. पारा शिक्षकों का कहना है कि 18 वर्ष सेवा देने के बाद भी सरकार अनुभव को प्राथमिकता न देकर दक्षता की परीक्षा लेना चाह रही है. इसके बावजूद राज्य के 55 हजार पारा शिक्षक आकलन परीक्षा देने को तैयार हैं.

पारा शिक्षकों को मिलेगा वेतनमान का लाभ

प्रदेश अध्यक्ष मो सिद्दीक शेख व सचिव सुमन कुमार की देखरेख में आयोजित इस बैठक में शिक्षकों ने प्रस्तावित बिहार मॉडल के विभिन्न बिंदुओं पर विचार विमर्श किया . सदस्यों ने कहा कि वेतनमान वाली नियमावली लागू होने के बाद जिस तिथि से टेट उत्तीर्ण को वेतनमान मिलेगा, उसी तिथि से आकलन परीक्षा उत्तीर्ण करनेवाले पारा शिक्षकों को भी वेतनमान का लाभ दिया जाये.

सभी वर्गों के लिए पासिंग मार्क भी भिन्न
इसके अलावा परीक्षा का पासिंग मार्क एससी, एसटी, ओबीसी के लिए 25 प्रतिशत एवं सामान्य वर्ग के लिये 30 प्रतिशत रखे जाने की बात कही गई . परीक्षा में अनुभव के आधार पर प्रत्येक एक वर्ष के लिए एक नंबर का वेटेज अंक दिया जाये. एक से पांच वर्ग और छह से आठ वर्ग के लिए एक ही परीक्षा आयोजित करने की भी मांग की है.

इसे भी पढ़े: Transgender Society: तीसरा लिंग उत्थान समिति के बैनर तले ‘अर्द्धनारीश्वर’ 21 अगस्त को करेंगे महारुद्राभिषेक

Related posts

Tokyo Olympic : निशाने पर नहीं लगा तीर, Deepika हुई Olympic से बाहर

Sumeet Roy

Hemant Soren Birthday : 46 साल के हुए CM हेमंत सोरेन, जानिये उनके जीवन से जुड़े कुछ अनछुए पहलू

Manoj Singh

पूर्व सीएम बाबूलाल के सलाहकार सुनील तिवारी को हाईकोर्ट से जमानत, मामला यौन शोषण का

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.