समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

रिम्स अस्पताल के 18 जूनियर और सीनियर मेडिकल स्टूडेंट किए गए निष्कासित

रिम्स अस्पताल के 18 जूनियर और सीनियर मेडिकल स्टूडेंट किए गए निष्कासित

रांची : मेडिकल स्टूडेंट और चिकित्सकों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए पहली बार रिम्स प्रबंधन ने एक साथ 18 जूनियर और सीनियर मेडिकल स्टूडेंट को हॉस्टल से निष्कासित कर दिया है. दरअसल बीते 4 सितंबर की देर रात रिम्स के हॉस्टल नंबर 7 और 2 के मेडिकल स्टूडेंट ने आपस में मारपीट की घटना को अंजाम दिया था, जूनियर ने सीनियर्स पर रैगिंग का आरोप भी लगाया था और 5 सितंबर को इस मामले में बरियातू थाना पुलिस द्वारा हादसे के बाद मामला शांत हुआ, फिर रिम्स चिकित्सा अधीक्षक ने 5 सदस्यीय जांच कमेटी बनाकर स्टूडेंट वेलफेयर काउंसिल के डीन डॉक्टर हीरेन को जांच का जिम्मा दिया था।

13 स्टूडेंट 3 माह और 5  एक साल के लिए हॉस्टल से निष्कासित 

कमेटी द्वारा रिपोर्ट सौंपने के बाद रिम्स निदेशक कामेश्वर प्रसाद के निर्देश पर 18 नामित चिकित्सकों के खिलाफ प्रबंधन ने कड़ी कार्रवाई करते हुए निश्चित समय के लिए निष्कासित कर दिया है. जिसमें 13 स्टूडेंट को 3 माह और 5 को 1 साल के लिए हॉस्टल से निष्कासित किया गया है। दूसरी ओर स्टूडेंट वेलफेयर के डीन द्वारा जारी आदेश के अनुसार नामित 18 मेडिकोज और डॉक्टर को 3 माह से लेकर 1 साल तक की अवधि के लिए हॉस्टल से निकाला गया है।

नियत समय के लिए निष्कासित किया गया

आदेश में कहा गया है कि रिम्स के छात्रावास परिसर में घटित घटना क्रम की पड़ताल के बाद जांच समिति की अनुशंसा और निदेशक द्वारा कार्रवाई का निर्देश दिया गया। जिसके बाद चिकित्सकों व छात्रों को अनुशासनात्मक कार्रवाई के तहत उनके छात्रावास से नियत समय के लिए निष्कासित किया गया ।
ये भी पढ़ें : IPL: ट्रॉफी जीतने का सपना टूटा तो भावुक हुए RCB के खिलाड़ी, फूट-फूटकर रोए विराट

Related posts

Pegasus के जरिये जासूसी पर केंद्र सरकार की सफाई, भारतीय लोकतंत्र को बदनाम करने का प्रयास

Manoj Singh

दोस्त ने खोला शिल्पा का ‘राज’! करियर के लिए पति से अलग रहने की कर रहीं प्लानिंग

Pramod Kumar

राजनीति के अपराधीकरण : निराश SC ने कहा, अब तक कुछ नहीं हुआ, आगे भी कुछ नहीं होगा

Sumeet Roy

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.