समाचार प्लस
Breaking देश

12 Jyotirlinga: कहां है शिव के 12 ज्योतिर्लिंग और क्या है इनसे जुड़े रहस्य

12 Jyotirlinga: भारत देश भगवान शिव के मंदिर और धामों के लिए काफी प्रसिद्ध है लेकिन शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों की बात ही अलग है। माना जाता है की अगर आप भारत, शिव के मंदिर और धामों के लिए काफी प्रसिद्ध है लेकिन शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों की बात ही अलग है। माना जाता है की अगर आप अपने जीवन काल में ये सारे ज्योतिर्लिंग के दर्शन कर ले तो आपको वैखुंठ की प्राप्ति होती है। ये ज्योतिर्लिंग भारत के अलग अलग राज्यो में स्थापित है। पुराणों के अनुसार ये ज्योतिर्लिंग कोई सामान्य शिवलिंग नहीं है इसमें स्वंय भगवान शिव ज्योतिर्लिंग के रूप में विराजमान है। ज्योतिर्लिंग एक संस्कृत शब्द है जिसका मतलब है ‘रौशनी का प्रतीक’.

सोमनाथ, गुजरात (Gujrat)
सोमनाथ, गुजरात (Gujrat)

सोमनाथ, गुजरात (Gujrat)

सोमनाथ,गुजरात के Saurashtra जिले में स्थित है और इसे धरती पर पहले ज्योतिर्लिंग के रूप में पूजा जाता है। इस ज्योतिर्लिंग का काफी महत्व है क्योंकी इसे आक्रमणकारियों द्वारा 16 बार तोड़ा गया और हर बार इसका दोबारा से निर्माण कराया गया। पुराने समय में इस मंदिर का ज्योतिर्लिंग हवा में तैरता था। कहा जाता है की इस मंदिर का निर्माण खुद चंद्रदेव ने किया था।

मल्लिकार्जुन, आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh)
मल्लिकार्जुन, आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh)

मल्लिकार्जुन, आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh)

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग भारत के दूसरे ज्योतिर्लिंग के नाम से प्रसिद्ध है ये आंध्र प्रदेश के कृष्णा नदी के तट पर श्रीशैल पर्वत पर स्थित है।

महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग, मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh)
महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग, मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh)

महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग, मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh)

मध्य प्रदेश के उज्जैन में बसा है महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग। यह अकेला ऐसा ज्योतिर्लिंग है जो की दक्षिणमुखी है यहां की भस्मारती पुरे विश्व में प्रसिद्ध और इसे देखने के लिए हज़ारों लोग देश विदेश से उज्जैन आते हैं।

ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग, मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh)
ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग, मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh)

ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग, मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh)

मध्य प्रदेश के मालवा क्षेत्र में बसा है महादेव का यह पवन धाम ओंकारेश्वर। यह मंदिर नर्मदा नदी के पास हैं और चारों ओर पहाड़ियों से घिरा है यह धाम।

केदरनाथ ज्योतिर्लिंग, उत्तराखंड (Uttarakhand )
केदरनाथ ज्योतिर्लिंग, उत्तराखंड (Uttarakhand )

केदरनाथ ज्योतिर्लिंग, उत्तराखंड (Uttarakhand )

इन सभी ज्योतिर्लिंगों में सबसे प्रसिद्ध है हिमालय की केदार चोटी पर बसा केदारनाथ धाम। कहाँ जाता है की सभी धामों में सबसे प्रमुख धाम यही  है, भगवान शिव यहां के शिवलिंग में सदा निवास करते है।

भीमाशंकर, महाराष्ट्र (Maharashtra)
भीमाशंकर, महाराष्ट्र (Maharashtra)

भीमाशंकर, महाराष्ट्र (Maharashtra)

भगवान शिव का ये ज्योतिर्लिंग महाराष्ट्र के पुणे में सह्याद्रि नाम के पर्वत पर स्थित है। पौराणिक कथाओं के अनुसार एक बार भोलेनाथ का एक भीम नामक असुर के साथ इस जगह पर युद्ध हुआ था, उस युद्ध में उनका जो पसीना धरती पर गिरा उसी से यहां भीम नदी उत्पन हो गयी।

रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग, तमिलनाडु (Tamil Nadu)
रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग, तमिलनाडु (Tamil Nadu)

 रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग, तमिलनाडु (Tamil Nadu)

तमिलनाडु में स्थित रामेश्वरम मंदिर को रामायण काल का मंदिर मन जाता है। कहा जाता है कि समुंद्र के उस पार बसे रावण के लंका से, देवी सीता को लाने से पहले भगवान राम ने इसी जगह पर महादेव की पूजा की थी।

काशी विश्वनाथ, बनारस (Banaras)
काशी विश्वनाथ, बनारस (Banaras)

काशी विश्वनाथ, बनारस (Banaras)

बानरस को शिव का मनपंसद शहर कहा जाता है और इसी बनारस के गंगा घाट पर स्थित है शिव का विश्व प्रसिद्ध मंदिर काशी विश्वनाथ। लोगों के अनुसार जो व्यक्ति अपने जीवन के आखिर समय यहां बीताता है उसके सारे पाप नष्ट हो जाते है और उसे स्वर्ग नसीब होता है।

त्र्यंबकेश्वर, महाराष्ट्र ( Maharashtra)
त्र्यंबकेश्वर, महाराष्ट्र ( Maharashtra)

त्र्यंबकेश्वर, महाराष्ट्र ( Maharashtra)

महाराष्ट्र के नासिक में बसा है महादेव का ये पावन ज्योतिर्लिंग, इस मंदिर के निकट है ब्रह्मगिरि पर्वत जिसके चोटी से  गोदावरी नदी बहती है। इस मंदिर की पौराणिक कथाओं के अनुसार काफी मान्यता है।

नागेश्वर, गुजरात (Gujrat )
नागेश्वर, गुजरात (Gujrat )

नागेश्वर, गुजरात (Gujrat )

कृष्ण की नगरी द्वारका में गोमती नदी के पास है ये मंदिर नागेश्वर, नागेश्वर का अर्थ होता है  ‘नागों के देवता’. कहा जाता है की ये ज्योतिर्लिंग हर तरह के जहर के प्रभाव से सुरक्षित है।

वैद्यनाथ, झारखंड (Jharkhand) 
वैद्यनाथ, झारखंड (Jharkhand)

 वैद्यनाथ, झारखंड (Jharkhand) 

बाबा धाम के नाम से प्रसिध्द ये मंदिर झारखंड के देवघर में स्थित है मान्यता अनुसार यहां आकर भगवान शिव के दर्शन करने वाले हर भक्त की सारी मनोकामनाएं पूरी होती है।

घृष्णेश्वर, महाराष्ट्र (Maharashtra)
घृष्णेश्वर, महाराष्ट्र (Maharashtra)

घृष्णेश्वर, महाराष्ट्र (Maharashtra)

महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में स्थित ये ज्योतिर्लिंग, अहिल्याबाई होल्कर द्वारा बनाया गया था। 12 ज्योतिर्लिंगों में से ये आखिरी ज्योतिर्लिंग है और इस जगह को ‘शिवालय’ भी कहा जाता है।

इसे भी पढ़ें : Jharkhand Unlock : राज्य में बढ़ा छूट का दायरा,अब खुलेंगे स्कूल, चलेंगी बसें -UPDATE

Related posts

शर्मनाक : मंदिर में पूजा करने आई महिला को पुजारी ने बाल पकड़कर पीटा, वीडियो वायरल

Manoj Singh

Dhanbad : साली के प्यार में डूबे जीजा ने कर दी पत्नी की गर्दन काटकर हत्या, गिरफ्तार

Manoj Singh

Covid-19: गिरावट के बाद कोरोना मामले फिर 40 हजार के पार, 460 लोगों की मौत

Pramod Kumar