समाचार प्लस
Breaking देश

आदिवासियों के उत्पाद को बाजार से जोड़ने के लिए नयी योजना पर विचार- अर्जुन मुंडा

केंद्रीय जनजातीय मामलों के मंत्रालय ने अनुसूचित जनजातियों द्वारा तैयार हस्तशिल्प और अन्य उत्पादों को बाजार से जोड़ने के लिए एक नयी योजना बनाई है। यह जानकारी भारतीय जनजातीय सहकारी विपणन विकास महासंघ (टीआरआईएफईडी) के प्रबंध निदेशक प्रवीर कृष्णा ने शुक्रवार को दी।

उन्होंने ‘ट्राइब्स- टेल्स फ्रॉम ट्राइबल हार्टलैंड्स’ नामक अपनी किताब के विमोचन के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में बताया कि इस योजना के प्रस्ताव को केंद्रीय मंत्रिमंडल को मंजूरी के लिए भेज दिया गया है।

जनजातीय मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा की मौजूदगी में कृष्णा ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री जनजातीय विकास योजना’ की जल्द घोषणा मंत्री द्वारा की जाएगी। इसे मंत्रिमंडल को भेजा गया है।’’

कृष्णा ने बताया कि वह कॉफी बोर्ड आफ इंडिया की तर्ज पर लघु वन उत्पाद बोर्ड बनाने का प्रस्ताव तैयार कर रहे हैं और इसे विचार के लिए जनजातीय मामलों के मंत्रालय को भेजा जाएगा। उन्होंने जनजातीय मामलों के मंत्री से आग्रह किया कि वह इस प्रस्ताव पर प्रधानमंत्री से चर्चा करें।

ये भी पढ़ें : Lalu Yadav Wikipedia Page: लालू प्रसाद यादव के Wikipedia संग छेड़छाड़, RJD प्रमुख की फोटो हटाकर लगाई ये तस्वीर

Related posts

क्या भारत की सड़कों पर दौड़ पायेंगी बिना ड्राइवर वाली टेस्ला की कारें?

Rohit Kumar

Jawan Martyred: जैसलमेर में शहीद हुए झारखंड के BSF जवान, CM Hemant Soren ने ट्वीट कर जताया दुःख 

Manoj Singh

यात्रीगण कृपया ध्यान दें: ​​​​​​​आसनसोल में लैंड स्लाइड के कारण ये ट्रेन हुई रद्द, जानें पूरी DETAIL

Sumeet Roy